छोर्यां फेसन मै जूलम करगी रै।
चूड़ो पैरे नहीं, घड़ी हाथ मै बांदे रै॥(टेर)


कुड़ती कब्जो ओर घागरो खूंट्यां दियो टांक।
दोनी हाथां मै बांदै घूगरा, एडी ऊंची कर-कर चाले रै॥
चूड़ो पैरे नहीं, घड़ी हाथ मै बांदे रै……॥(1)


आंख्यां आगै चुचमा रांखै रै।
ऊं छोरी का खुल्ला बाळ हवा मै भागे रै॥
चूड़ो पैरे नहीं, घड़ी हाथ मै बांदे रै……॥(2)


सासू-सुसरा की सरम न आवे रै।
वा परण्या सूं हाथ मलार चाले रै॥
चूड़ो पैरे नहीं, घड़ी हाथ मै बांदे रै……॥(3)


घरका सूं तो करै लड़ाई।
ओरा सूं मुलाकात ऊनै परण्यो घणो समजावे रै॥
चूड़ो पैरे नहीं, घड़ी हाथ मै बांदे रै……॥(4)