लेख अपलोड करबा कअ तोड़ी जाणकारी:-

(अ) लेख का परकार:- 

ईं वेबसाइट कअ तोड़ी अपणा लेख त्यार करबो अर ऊमंअ साथ देबा कअ तोड़ी नरी सारी जाणकारी दियेड़ी छ:-

(1) सांस्करतिक का स्याब सूं चोखी:- ईं वेबसाइट पअ सगळा लेख ढुंढाड़ी समुदाय, आपणी संस्करति अर ढुंढाड़ी का बारा मंअ हअणा चाईजे। अस्यां लेख जे सांस्करतिक या सामाजिक का स्याब सूं ढुंढाड़ी समुदाय नअ लाब देबाळा कोनअ, वांनअ ईं वेबसाइट पअ अपलोड मत करो।

(2) अलग-अलग हिस्‍सा मंअ बांटबाळा लेख:- सगळी समाज मंअ अलग-अलग सोचबाळा लोग रअ छ अर वअ हमेसां समुदाय नअ अलग-अलग करबा का बारा मंअ जाणकारी देता रअ छ अर वां लोगां नअ एक साथ न हअबा दे। ईं वेबसाइट को योई मतलब छ कि पूरा ढुंढाड़ी समुदाय का लोगां नअ एक साथ लेर चालां। जियां, राजनीति अर धरम का लोगां नअ कद्‍यां बी अलग न कर सकअ।

(अ) ईं वेबसाइट पअ अपलोड करेड़ा सगळा लेख राजनीति आळा न हअणा चाईचे। वां सगळा लेखां सूं बचो, ज्ये एक राजनीति नअ लेर लेख त्यार करअ छ या फेर कोई दूसरा कअ बारा मंअ हअ।

(ब) ईं वेबसाइट पअ अपलोड करेड़ा सगळा लेख कोई बी धरम सूं जुड़ेड़ा न हअणा चाईचे। वां सगळा लेखां सूं बचो, ज्ये कस्या बी धरम या कोई बी एक भगवान की बडाई करअ छ।

(3) निरमाण सोसाइटी का सपना, मकसद अर खास मूल्य कअ साथ मलाण:- ढुंढाड़ी मंअ वेबसाइट को विकास करबो निरमाण सोसाइटी की एक सुरूआत छ, ज्यो ढुंढाड़ी अर समुदाय नअ बडाबा कअ तोड़ी काम करअ छ। या बी जरूरी छ कि या वेबसाइट निरमाण सोसाइटी का मूल्य अर मकसद कअ खिलाप कोनअ, वांकी वेबसाइट पअ निरमाण सोसाइटी का सपना, मकसद अर खास मूल्य की जाणकारी दियेड़ी छ।

(4) साइत्य का परकार:- ईं वेबसाइट नअ आगअ बडाबाळा साइत्य का परकार, पण वांपअ रोक कोनअ, वांकी नीचअ जाणकारी छ:-

(अ) समुदाय, वांकी भासा-संस्करति, वांको धरम, लोगां को इतियास, इलाको, जगां को नक्सो, संस्करति सूं जुड़ेड़ी फोटुवां, सबदकोस, बातां, कावतां, मुवावरा, चोखा बच्यार, चुटकला, कबिता, लोग-गीत, भजन, लुगायां का गीत, साख, पेळ्‍यां, तुंवार, चलण, सांस्करतिक कार्यकरम, मायड़ भासा मंअ समाचार, जनम, मरण, ब्याव यां सब का बारा मंअ जाणकारी।

(ब) सरकारी या पराईबेट कार्यकरमां का बारा मंअ जाणकारी जे मायड़ भासा मंअ, समुदाय कअ तोड़ी लाब देबाळा छ।

(ग) निरमाण का कार्यकरमां की जाणकारी, जियां मायड़ भासा मंअ साक्सरता कस्सा चलाबो, मायड़ भासा को विकास करबो, देसी खेती नअ बडाबो देबो, सिक्सा अर ओर बी नरा छ।

(घ) वां कार्यकरमां का बारां मंअ जाणकारी द्‌यो, जे समुदाय नअ लाब देबाळी हअवअ, वानअ वेबसाइट पअ जोड़बा का बारा मंअ सोच सकअ छ।

(च) मायड़ भासा मंअ साइत्य जे इलेक्टरोनिक का स्याब सूं बी त्यार छ। ओनलाइन साइत्य नअ छापबाळा नअ लेबा को हक छ, अगर कोई हअलो तो।

(छ) भासा, समुदाय, संस्करति का बारा मंअ मायड़ भासा अर दूसरी भासा मंअ साइत्य की सूची।

(ज) मायड़ भासा या कोई दूसरी भासा मंअ दूसरी वेबसाइटां की लिंक, जण्डअ समुदाय, भासा, संस्करति, इलाका यां सबका बारा मंअ बडिया जुड़ेड़ी जाणकारी छ। 


(ब) वेबसाइट पअ लेख डालबो: -

ईं वेबसाइट पअ कोई बी साइत्य डालबा कअ तोड़ी नीचअ लिखेड़ी जाणकारी को पालन करणो चाईजे:- 

(1) ईं वेबसाइट पअ कोई बी साइत्य डालबा सूं पअली, (एक मान्यता ईमेल आईडी या फून लम्बर सूं) अपणो वेबसाइट पअ जुड़ाव करबो जरूरी छ।

(2) ईं वेबसाइट पअ कस्या बी डालेड़ा लेख सई हअणा चाईजे (कोई बी लेख की नकल करबा की छूट कोनअ) 

(3) वेबसाइट पअ डालेड़ा हर लेख का बारा मंअ, एक बणाबाळा सदस्य की राय लेणी पड़अली अर काम मंअ लेबाळा नअ बणाबाळा जे सुदार करवाबो चार्या छ ऊं आदार पअ जे सुदार करबो जरूरी छ, ऊंकअ तोड़ी सअमत हअणो चाईजे।

(4) करमचारी लेख नअ सई सूं सुदार कर्यां पाछअ ई वेबसाइट पअ डालअलो। अगर जांच करबाळो लेख नअ सई न मानअ, तो लेख नअ काम मंअ लेबाळा नअ बताणो पड़अलो, पण आखरी मंअ वेबसाइट बणाबाळी टीम को फअसलो मान्यो जावअलो।

(5) वेबसाइट बणाबाळी टीम लेख नअ परकासित कर्यां पाछअ बी ऊनअ लोगां नअ, न छापबा को हक कोनअ, अगर कोई एतराज या मांग छ, तो?


 (स) परकरिया:- 

सगळा लेखां नअ मंजूरी मल्यां पाछअ ईं वेबसाइट पअ अपलोड हअला। छापबा का तीन इसतर करेड़ा छ, जियां नीचअ दियेड़ा छ:- 

(1) करमचारी सूं मंजूरी मलेड़ो साइत्य:- करमचारी एक ढुंढाड़ी बोलबाळो छ, जे समुदाय की भासा-संस्करति, इतियास यां सब नअ बडिया जाणअ छ, करमचारी साइत्य की कीमत, ढुंढाड़ी नअ काम लेबो अर ऊंकी जांच करबो। करमचारी कोई अस्या आदमी की बी मदद करअलो, जिनअ निया लेख त्‍यार करबा कअ तोड़ी सायता की जुरत छ।

(2) वेबसाइट बणाबाळा की मंजूरी:- वेबसाइट बणाबाळो, ढुंढाड़ी करमचारी अर दूसरा लोगां कअ साथ आपस मंअ बातचीत करअलो अर फेर लेख नअ मंजूरी या नकार देलो। लेख नअ मंजूरी मल्यां पाछअ ई अपलोड कर्यो जावअलो। अगर ईनअ नकार दे छ, तो फेर ईनअ वेबसाइट सूं हटा देलो।

(3) वेबसाइट मालिक सूं मंजूरी:- हर लेख की जांच करबा कअ तोड़ी वेबसाइट मालिक जिम्मेवार हअ छ। जद वेबसाइट मालिक मंजूरी दे छ, तो लेख लोगां नअ दखावअ छ। केवल मंजूर करेड़ो लेख नअ अपलोड कर्यो जावलो अर दूसरां लेख नअ वेबसाइट सूं हटा देला।